हर स्कूल को मिलेंगे क्लास रूम

प्रदेश भर मेंस्कूल भवन निर्माण पर अब महंगाई बाधा नहीं बनेगी। शिक्षा विभाग ने स्कूलों में बनने वाले क्लास रूमों के बजट में दोगुनी बढ़ोतरी कर दी है। प्रदेश भर में प्राइमरी, अपर प्राइमरी स्कूलों को सर्वशिक्षा अभियान के तहत प्रत्येक क्लास रूम निर्माण के लिए अब चार लाख रुपए की राशि प्राप्त होगी, जबकि पूर्व में क्लास रूम निर्माण के लिए दो लाख 85 हजार रुपए की राशि प्रदान की जाती थी। विभाग ने इस बाबत आदेश जारी कर बजट का प्रावधान भी कर दिया है। सूत्रों के मुताबिक वित्तीय वर्ष 2012-13 में स्कूलों को प्रत्येक क्लास रूम निर्माण के लिए दो लाख 85 हजार रुपए की बजाय चार लाख रुपए की राशि प्रदान की जाएगी। यही नहीं, विभाग ने हैडमास्टर रूम निर्माण के लिए भी राशि में बढ़ोतरी कर दी है। हैडमास्टर कमरों के लिए भी अब चार लाख रुपए का बजट प्रदान किया जाएगा। सूत्रों की मानें तो विभाग ने सर्वशिक्षा अभियान के तहत दिए जाने वाले बजट में अब तक की सबसे बड़ी बढ़ोतरी की है। गौरतलब है कि शिक्षा विभाग सर्वशिक्षा अभियान के तहत क्लास रूमों से वंचित स्कूलों को प्रयाप्त भवन उपलब्ध करवाया जा रहा है। इसके अलावा हेैडमास्टरों के लिए भी अलग से कमरों का निर्माण किया जा रहा है। विभाग हैडमास्टर सहित क्लास रूमों के लिए दो लाख 85 हजार रुपए की राशि उपलब्ध करवा रहा था, परंतु बढ़ती महंगाई के चलते विभाग द्वारा तय नियमों के मुताबिक कमरों के निर्माण मे काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। कई ऐसे भवन हैं जो बजट के अभाव के चलते अभी तक पूरे नहीं हो पाए हैं। सूत्रों के मुताबिक जिला परियोजना अधिकारियों व अध्यापकों ने शिक्षा विभाग से कमरों का बजट बढ़ाने की गुजारिश की थी। विभाग ने जिला स्तर इस साल बनने वाले नए कमरों का लक्ष्य निर्धारित कर बजट का प्रावधान भी कर दिया है। इस बारे में एसएसए के परियोजना अधिकारी मोहिंद्र चंदेल ने बताया कि स्कूलों में बनने वाले क्लास रूमों व हैडमास्टर रूमों के निर्माण को अब चार लाख रुपए दिए जाएंगे।

साभार:दिव्य हिमाचल

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें