यूनीफार्म पर हर साल 45 करोड़ खर्च करेगी सरकार

प्रदेश में पहली से दसवीं कक्षा तक दी जाने वाली यूनीफार्म के दाम तय कर दिए गए हैं। जो यूनिफार्म छात्रों को मुफ्त उपलब्ध कराई जाएगी, सरकार को उसके दाम चुकाने पड़ेंगे। 

इसके 124 सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। यूनीफार्म गुणवत्ता जांच के लिए टैक्सटाइल इंजीनियरिंग कॉलेज सुंदरनगर की मदद ली जा रही है। यूनीफार्म को उपलब्ध करवाने के लिए सरकार पर सालाना करीब 45 करोड़ रुपए का बोझ पड़ेगा। 

9,27,205 बच्चों को होगा लाभ

9,27,205 बच्चों को यूनीफार्म दी जाएगी। इसमें 4,63,680 लड़के और 4,63,525 लड़कियां हैं, जिनको इस साल यह यूनीफार्म दी जानी है। इस बार यह यूनीफार्म गुप्ता टैक्सटाइल ट्रेडिंग कंपनी अंबाला की तरफ से उपलब्ध करवाई जाएगी, जिसने न्यूनतम दर पर इसे उपलब्ध करवाने की बात कही है।

आज की बैठक में होगा मंथन

सरकारी स्कूलों में दी जाने वाली यूनीफार्म को लेकर नौ अप्रैल को सभी जिला के डिप्टी डायरेक्टर की बैठक बुलाई गई है। डायरेक्टर एलिमेंटरी राजीव शर्मा के अनुसार, बैठक में यूनीफार्म आवंटन को लेकर निर्णय लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री के निर्देशानुसार इस प्रक्रिया में पूरी पारदर्शिता बरती जाएगी।

यह है नई यूनिफार्म

अटल स्कूल यूनीफार्म में छात्रों को ग्रे पेंट और स्काई ब्लू शर्ट दी जाएगी। छात्राओं के लिए रेड चेक कमीज एवं सफेद सलवार के साथ सफेद चुन्नी दी जाएगी।

लड़कों के लिए 

कक्षा राशि रुपए में
1-5 199
6-10 227.90

लड़कियों के लिए 

कक्षा राशि रुपए में
1-5 201.90
6-10 299.90
साभार:भास्कर

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें