सर्विस बुक ऑनलाइन करने पर खफा

मुख्याध्यापक संवर्ग अधिकारी संघ जिला ऊना ने विभाग द्वारा सेवा पंजिका को ऑनलाइन करने के फरमान जारी करने का कड़ा विरोध जताया है। संघ के प्रधान नरेश सहोड़, महासचिव राम कुमार, प्रतिनिधियों रूप लाल शर्मा, सत्य देव शर्मा ने कहा कि सेवा पंजिका को अतिशीघ्र ऑनलाइन करने के विभाग इस वर्ग पर दबाव डाल रहा है और आनन-फानन में शिक्षा विभाग ऐसे फैसलों को थोपकर वर्ग विशेष के हितों के साथ कुठाराघात कर रहा है। उन्होंने कहा कि अधिकतर स्कूलों में इंटरनेट की सुविधा नहीं है और अधिकतर मुख्याध्यपक तथा प्रधानाचार्य सेवा पंजिकाएं उठाकर जगह-जगह धक्के खा रहे हैं और विभाग द्वारा कार्य में देरी तथा त्रुटि के लिए पाठशालाओं के मुखियों को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है। संघ ने कहा कि विभाग को सुविधाओं के अभाव व बिना किसी प्रशिक्षण के ऐसी कार्रवाई को नहीं करना चाहिए था। उन्होंने कहा कि विभाग पहले मुख्याध्यापकों तथा प्रधानाचार्य को इस वर्ग को विशेष प्रशिक्षण दें तथा सभी पाठशालाओं में इंटरनेट सुविधा उपलब्ध करवाए और इस कार्य को करने के  लिए समय सीमा को भी बढ़ाया जाए। संघ ने सरकार से पंजाब राज्य की तर्ज पर मुख्याध्यापकों व प्रधानाचार्यों की ग्रेड-पे को बढ़ाने की भी मांग की है। उन्होंने कहा कि अगर शिक्षा विभाग ने सेवा पंजिका को ऑनलाइन करने के तुगलकी फरमान को वापस न लिया तो संघ शिक्षा विभाग के विरुद्ध अपने आंदोलन को लेकर रणनीति तैयार करेगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें