पेयजल योजना


जिला कुल्‍लु निरमंड तहसील के अंर्तगत ब्रौ में मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल ने सात पंचायतों को लाभान्वित करने वाली पेयजल  योजना का नींव पत्थर रखा। यह पेयजल योजना सात करोड़ 48 लाख की अनुमानित लागत से निर्मित होगी। इस योजना के बन जाने से रामपुर परियोजना से प्रभावित हुई सात पंचायतें बाड़ी, तुनन, पोशना, बाहवा, खरगा, कुश्वा और गड़ैच के ग्रामीणों के घर में जल धारा बहेगी। सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार इस पेयजल योजना से इन पंचायतों के लगभग नौ हजार लोग लाभान्वित होंगे। साथ ही इस जल धारा से एक हजार के लगभग छात्रों को भी फायदा पहुंचेगा।  शनिवार को इस योजना का शिलान्यास किया। सुबह करीब 11.30 बजे मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल का काफिला ब्रौ पहुंचा। उनके साथ भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष खीमी राम, आनी के विधायक किशोरी लाल सागर सहित बड़ी संख्या में भाजपा नेता मौजूद रहे। यहां पहुंचने पर स्थानीय लोगों ने उनका जोरदार स्वागत किया। भाजपा नेताओं ने ढोल-नगाड़ों की थाप पर मुख्यमंत्री का स्वागत किया। यहां पर मुख्यमंत्री ने आम लोगों की समस्याएं भी सुनीं। कतारबद्ध खड़े लोगों के प्रार्थना पत्रों को मुख्यमंत्री ने स्वयं पढ़ा और उन पर जल्द कार्रवाई करने की बात कही। यहां के अधिकतर लोगों द्वारा उठाई गई महत्त्वपूर्ण मांग ब्रौ और जगातखाना को टीसीपी नियम से बाहर करने पर बात को मुख्यमंत्री ने गंभीरता से सुना। उन्होंने उपायुक्त कुल्लू को कहा कि इस संबंध में जल्द कोई सकारात्मक फैसला लें, ताकि यहां के लोगों को राहत मिल सके। यहां पर पोशना व तुनन के प्रधानों व महिला मंडलों के प्रतिनिधिमंडल ने भी टीसीपी के नियम को हटाने की बात कही। पोशना के प्रधान रणबीर राठौर ने कहा कि टीसीपी का नियम लागू होने से यहां के लोगों को खासी दिक्कतें आ रही हैं। कई मकानों में बिजली-पानी की सुविधा नहीं मिल पा रही है।  इस मौके पर उपायुक्त बीएम नांटा, एसडीएम आनी श्रवण मांटा, भाजपा नेत्री सुषमा मखैक, शशि कटोच व विजय गुप्ता सहित बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता मौजूद रहे।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें